• mumbaikidneyfoundation@gmail.com

गुर्दे जानकारी व गाइड - गुर्दे रोग के दौरान आहार योजनाएं

गुर्दे के लिए आहार संबंधित जानकारी

डायलिसिस मे अच्छी तरह से रहना के दस तरीके

दस तरीके जो आप को रखे डायलिसिस के बाद भी ठीक.

१. जो डाइइटिशन ने आप को डाइट बनाके दिया है उसे पालन करें .प्रोटीन की मात्रा खाने मे ज्यादा लें.

२. अपनी दवाइयां जेसी कही है उसी तरह लें और हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करें

३. रोज आसान , कसरत ,योग ,ध्यान,स्विमिंग या प्राणायाम हो सके तो करें.

४. आप अगर हेमो डायलिसिस करवा रहे हैं तो हर रोज अपने फिस्टुला चेक करें और अगर पेरीटोनीयल डायलिसिस करते हैं तो कैठेठेर निकास की जगह पर ध्यान दे .

५. कितनी बार हेमो डायलिसिस या पेरीटोनीयल डायलिसिस करने के लिए डाक्टर ने खा है उतनी बार करें. किसी भी कारन से डायलिसिस को स्किप ना करें.

6. नियमित रूप से वजन, बी .पी, ब्लड केमिस्ट्री और पानी पीने का माप रखें.

७. अपना खून हेमोग्लोबिन ९ से ११ के बीच रखें और हमेशा अपने कैल्शियम , फास्फोरस ,विटामिन D ३,पेरा थाइरोइड पर नियंत्रण रखें.

८. नियमित रूप से वैक्सीन लें ( हेपेटाइटिस , एंटी HBs -titer, इन्फ्लुएंजा, न्यूमोकोकल ).

९. आजू बाजु एक सहयोग ग्रुप में शामील हो या अपने को किसी अच्छे काम में उलझा के रखें .

१०. हमेशा पढ़े और ज्यादा जानकारी इकठा करें किडनी रोग ,डायलिसिस ,ट्रांस्प्लांट पर. हमारे वेबसाइट पर जरुर जाये : mumbaikidneyfoundation.in



  लेंसलॉट किडनी एंड जीआई सेंटर, डी 1/डी 2, भारत बॉ, लैनकेलोट कंपाउंड, एसवी रोड, बोरिवली (पश्चिम) मुंबई 400092
Copyrights © मुंबई किडनी फाउंडेशन | द्वारा संचालित: SkyIndya